मेरी प्रकाशित रचनाएँ

मैं 1982 से ही लेखन का कार्य करता रहा हूँ| मेरी रचनाएँ अनेक पत्र-पत्रिकाओं में छपने के उपरांत प्रकाशकों ने किताब के शक्ल में छापना स्वीकार किया| साहित्य लेखन की दुनियाँ में आज मैं जो भी हूँ,...

read more..

फिल्म पटकथाएँ

कालांतर में मुझे लगा कि प्रिंट मीडिया से इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ज्यादा असरदार होता है| इसीलिये मेरे दिल-दिमाग फिल्म पटकथा लेखन की ओर भी मुड़ गए| मेरी कुछ कहानियां सम्पूर्ण पटकथा के साथ दी जा रही हैं जो जीवन के बहुआयाम पहलुओं से जुड़ी हैं|

read more..

सम्मानित

आदिवासी भाषा, संस्कृति एवं प्रतिभा को बढ़ावा और प्रोत्साहन देने के लिए अपने आस-पास के सामाजिक संस्थाओं, संगठनो द्वारा मुझे अनेक सम्मानों से सम्मानित किया गया है| मै, ऐसे सम्मानों से सम्मानित किये जाने को, अपने लिए बहुत बड़ी उपलब्धियाँ समझता हूँ|

read more..

सामाजिक उप्लापधियाँ

मुझे लगा कि हमारे आदिवासी समाज में बहुत सारी कमजोरियां पनप रही है| जैसे डायन कुप्रथा, नशा खोरी एवं धार्मिक अज्ञानता, आदि | इन्ही बिचारों के सन्धर्व में मैं कुछ सामाजिक कार्य भी करता हूँ| अपने समाज में सदियों पहले पनपे डायन कुप्रथा को समाप्त करने का प्रय्यास कर रहा हूँ|

read more..
www.000webhost.com